कवर स्टोरी

0

पीले रंग शुभ बन कर छा जाना, सबको अपने गले लगाना…

होली पर विशेष होली के त्यौहार पर लाल, पीले, नीले, हरे रंगों के जरिए सबको गले लगाने का संदेश देती कवि संजीव जैन की रचना सबको अपने गले लगाना इन्द्रधनुष के रंग ख़ुशियों में,...

0

अगर आप मथुरा और वृंदावन जा रहे हैं तो ये ऐप जरूर डाउनलोड करें

मेरो ब्रज (Mero Braj) ब्रज की यात्रा पर आने वालों के लिए ऐसा गाइड है, जो उनके साथ ही नहीं बल्कि हाथ में मौजूद है। Mero Braj ऐप पर ब्रज क्षेत्र की बहुत सारी...

0

छत्तीसगढ़ में IAS अफसर ने दुकानें खोलकर बदल दी सैकड़ों की तकदीर

वरुण श्रीवास्तव: छत्तीसगढ़ का सूरजपुर जिला। जितनी उम्र इस जिले की है तकरीबन उतना ही लंबा करियर यहां के कलेक्टर आईएएस दीपक सोनी का है। जिला सूरजपुर राज्य की राजधानी रायपुर से आठ घंटे...

0

जब मुंबई में दिव्यांगों ने लगा दी मंच पर आग, दंग रह गए मुंबई वासी

दिव्यांगों के लिए समर्पित नारायण सेवा संस्था ने एक बार फिर इनकी प्रतिभा को बड़ा मंच दिया। मुंबई के जेवीपीडी ग्राउंड में पिछले दिनों ‘दिव्यांग टैलेंट एंड फैशन शो’ का शानदार आयोजन नारायण सेवा...

0

विजयवाड़ा के एक शख्स के दिल, फेफड़े, किडनी और लिवर से 6 लोगों को मिली जिंदगी

दिल्ली के फोर्टिस एस्‍कॉर्ट हार्ट इंस्‍टीट्यूट में विजयवाड़ा से दिल लाकर एक शख्स का हृदय प्रत्यारोपण हुआ। दिल्ली एयरपोर्ट से एस्‍कॉर्ट हार्ट इंस्‍टीट्यूट, ओखला तक एक ग्रीन गलियारा बनाया गया, जिसकी मदद से 22.5...

0

गणेशशंकर विद्यार्थी के अनसुने पहलुओं को सामने लाती पत्रकार अमित राजपूत की पुस्तक

भारतीय जनसंचार संस्थान के हिंदी पत्रकारिता के छात्र रहे अमित राजपूत ने गणेशशंकर विद्यार्थी को ‘अंतर्वेद प्रवर’ यानी दोआब का सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति कहकर पुकारा है। युवा रचनाकार अमित राजपूत की पुस्तक ‘अंतर्वेद प्रवरः गणेशशंकर विद्यार्थी’...

0

39 की उम्र में पर्वतारोहण शुरू करने वाली आईपीएस ने लांघ डाले कई पर्वत

अपर्णा कुमार दुनिया की सबसे ऊंची चोटी- द माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली पहली महिला आईपीएस अधिकारी हैं। माउंट मनासु को फतह कर वह दुनिया की 8वीं सबसे चुनौतीपूर्ण ऊंची चोटी पर पहुंचने वाली...

0

जामा और रामगढ़ के घर-घर के सुख-दुख की भागीदार ‘दीदी’ डॉ. स्टेफी टेरेसा मुर्मु

दुमका जिले के जामा और रामगढ़ प्रखंड में सक्रिय रसिक बेसरा मेमोरियल ट्रस्ट की संचालिका डॉ. स्टेफी टेरेसा मुर्मु मदद का दूसरा नाम बन गई हैं। आसनसोल कुरुवा पंचायत के ग्राम दुधानी के लुखिराम...

0

डॉक्टर से आईएएस बने नितिन चला रहे स्लम टू हार्वर्ड कैंपेन

स्लम टू हार्वर्ड एक कैंपेन है, गरीब बच्चों को शिक्षित करने का। बेघर बच्चों तक शिक्षा की रोशनी पहुंचाने का। इस कैंपेन के पीछे हैं 2018 बैच के ब्यूरोक्रैट डॉ. नितिश शाक्य। इस कैंपेन...

0

गो-सेवा के लिए जर्मनी की सुदेवी दासी को स्वामी ब्रह्मानंद पुरस्कार

गो-सेवा के लिए सुदेवी दासी का नाम साल 2019 के स्वामी ब्रह्मानंद पुरस्कार के लिए घोषित किया गया है। वह बीते 25 वर्षों से गो-सेवा के क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य कर रही हैं। सुदेवी...

Skip to toolbar