Category: समथिंग डिफरेंट

0

पुराने स्मार्टफोन से हो सकेगी नारायण सेवा संस्थान में किसी दिव्यांग की मदद

देश में सबसे बड़ा ई-वेस्ट माने जा रहे पुराने स्मार्टफोन अब किसी दिव्यांग को आत्मनिर्भर करने में मददगार साबित हो सकते हैं। नारायण सेवा संस्थान कॉर्पोरेट साझेदारी कार्यक्रम पहल के तहत दिव्यांगों के लिए...

0

कॉरपोरेट की दुनिया छोड़ दिव्यांगों के लिए क्या कर रही मुंबई की ये लड़की

मुंबई की एक लड़की तनुश्री। जिसने कॉरपोरेट और स्टार्ट अप की दुनिया में 13 साल कड़ी मेहनत की। एक मुकाम बनाया। लेकिन अपने सपने को पूरा करने के लिए एक झटके से सब कुछ...

0

दिल्ली में मजदूरों के हक के लिए आगे आए विधिक सेवाएं प्राधिकरण के जज

दिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण ने मजदूरों को उनके हक से परिचित कराने और हक दिलाने के लिए विशेष अभियान शुरू किया है

0

दिल्ली में आयोजित हुआ अरबिक म्यूजिकल फेस्टिवल

तीन दिवसीय इस अरबी संगीत समारोह को शुरू करने का मकसद अरबी संगीत की समृद्ध विरासत का संरक्षण और संवर्धन करना है। यह शाम कुछ अलग थी। लोग भी अलग थे और संगीत भी...

0

कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन ने कुम्‍भ को बच्‍चों के लिए बनाया सुरक्षित

2013 के महाकुम्‍भ में कई बच्‍चे गुम हो गए थे। इसीलिए इस बार प्रयागराज कुम्‍भ में शामिल होने वाले बच्चों की सुरक्षा, प्रशासन और नागरिकों दोनों के लिए समान रूप से एक बड़ी चिंता...

0

DSLSA की लीगल सर्विसेज क्लिनिक जहां मिलेगा बिना फीस कानूनी उपचार

दिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण (DSLSA) ने कानूनी उपचार मुहैया कराने के लिए पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर लीगल सर्विसेज क्लिनिक खोला है ऐसे लोग जिन्हें कानूनी सलाह या सहायता की जरूरत होगी उन्हें...

0

सेहत से लेकर देश प्रेम की अलख जगाते अजय कुमार

धीरज मिश्रा: विचार लो कि मर्त्य हो न मृत्यु से डरो कभी, मरो परन्तु यों मरो कि याद जो करे सभी। हुई न यों सु-मृत्यु तो वृथा मरे, वृथा जिए, मरा नहीं वहीं कि...

0

किडनी दान कर परिवार ने कर दिया अर्चना को अमर

आशीष पाण्डेय: नए साल का जश्न मनाने दिल्ली के मांडी गांव के एक फॉर्म हाऊस गई अर्चना गुप्ता अब इस दुनिया में नहीं है। लेकिन इस दुख की नाजुक घड़ी में उनके परिवार के...

0

बच्चे जिन्होंने बदल दी दुनिया

सोनू कुमारी सिर्फ 16 वर्ष साल की है। वो राजस्थान के कोलिया भूरियावास नामक गांव की रहने वाली हैं। उन्होंने अपने गांव में अपने खुद के प्रयत्नों से ‘बाल विवाह के खिलाफ अभियान’ चलाया...

0

दिल्ली के दूतावासों वाले इलाके की झुग्गी में बिखरे ‘रंग बदलाव के’

पंकज चौधरी:  विदेशी दूतावासों के लिए जाना-जाने वाला दिल्ली का चाणक्यपुरी इलाका। साफ-सुथरी सड़कें, विदेशी गाड़ियां, हरियाली, अलग-अलग देशों की संस्कृति से परिचय कराती इमारतें, इस इलाके की पहचान है। इस चमक-दमक के बीच...

Skip to toolbar