Tagged: कोरोना

0

प्रधानमंत्री मोदी का पैकेज किसान-गरीब-मजदूर को राहत या छलावा?

वित्त मंत्री की किसानों-मजदूरों के लिए 3.16 लाख करोड़ का ऐलान पूरी तरह से हवाई है। कागजी है। शब्दों का मकड़जाल मात्र है। इनमें ज्यादातर योजनाएं वर्षों से चल रही हैं। कुछ ऐसी हैं...

0

हम गाँव देहात चले हैं..

जिन शहरों को बनाने-बसाने में मजदरों ने खून पसीना बहाया.. सबकुछ पीछे छोड़कर चिलचिलाती धूप में सिर पर गठरी लादे साथ में नन्हें बच्चों का हाथ थमे जलती तपती सड़क पर नंगे पैर वापस...

0

सड़कों पर निकल पड़े मजबूर मजदूरों का गुनहगार कौन?

दिल्ली, राजस्थान, पंजाब और महाराष्ट्र से भारी तादाद में मजदूरों और नौकरीपेशा लोगों को बगैर किसी इंतजाम के बाहर जाने देने की जिम्मेदारी किसकी बनती है? राकेश उपाध्याय: गुनाहों के देवता अपने गुनाहों का...

0

जनाब राहुल गांधी की भक्ति तो आप लोग भी कर रहे हैं

क्या राहुल गांधी कोरोना के इस संकट काल में भी इवेंट कर रहे हैं। क्या दिल्ली में मजदूरों से मिलने जाना राहुल गांधी का स्टंट था। इस संकट काल में राहुल गांधी के इस...

0

मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज की हर असलियत समझिए

क्या है मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज का सच.. 20 लाख करोड़ के पैकेज की परत दर परत पड़ताल.. क्या 20 लाख करोड़ का भारी भरकम पैकेज सच में अर्थव्यवस्था को...

0

जब चल पड़ा मजदूरों का रेला तो हर तरफ क्यों मची त्राहि-त्राहि

मजदूर दिवस पर विशेष मजदूरों का रेला जब अपने गांव-गिराव की तरफ चल पड़ा तो हर तरफ त्राहि-त्राहि मच गई। किसी को मजदूरों का दर्द, उनकी बेबसी, उनकी लाचारी, उनकी भूख नहीं दिख रही...

0

आइए “सरकार” आप भी कोरोना की लड़ाई के योद्धा पुलिस के जवानों के साथ खड़े हों

कोरोना की इस लड़ाई में आम आदमी का पुलिस के प्रति नजरिया बदल दिया है। जान जोखिम में डालकर पुलिस के जवान इस जंग में जुटे हैं। ये जंग किसी अपराधी के खिलाफ नहीं...

0

गांवों की तरफ लौटते भूख से तड़पते प्रवासी मजदूरों की व्यथा

परिंदे और प्रवासी मजदूर कैलाश सत्यार्थी: नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित विश्व प्रसिद्ध बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी लॉकडाउन से बेरोजगार हुए प्रवासी मजदूरों और उनके बच्चों को लेकर चिंतित हैं। उनकी मदद के...

Skip to toolbar