Tagged: होली

0

फिर इन्द्र धनुष उगेगा, उसके रंगों से होली खेलेंगे

होली पर विशेष होली पर शांति की कामना करती नोबेल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी की कविता हर साल होली पर उगते थे इंद्र धनुष दिल खोल कर लुटाते थे रंग मैं उन्हीं रंगों...

0

पीले रंग शुभ बन कर छा जाना, सबको अपने गले लगाना…

होली पर विशेष होली के त्यौहार पर लाल, पीले, नीले, हरे रंगों के जरिए सबको गले लगाने का संदेश देती कवि संजीव जैन की रचना सबको अपने गले लगाना इन्द्रधनुष के रंग ख़ुशियों में,...

Skip to toolbar